दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया सहित उन तमाम विधायकों को हिरासत में ले लिया गया है जो पीएम निवास के बाहर कथित तौर पर सरेंडर करने जा रहे थे. पुलिस सिसोदिया समेत सभी विधायकों को धारा 144 के उलंघन करने करने के आरोप में हिरासत में ले लिया. पुलिस ने ऐहतियातन 7 आरसीआर के इलाके में धारा 144 लगा दी थी.

ये पूरा विवाद कल शुरू हुआ जब उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया दिल्ली के गाजीपुर मंडी राउंड पर पहुंचे वहां कुछ आढ़तियों और गाज़ीपुर मंडी के प्रधान सुरेंद्र गोस्वामी जब उनसे अपने और साथियों के समस्यओं को उनके साथ साझा कर रहा था उसी दौरान गाज़ीपुर मंडी के प्रधान सुरेंद्र गोस्वामी दिल्ली सरकार के कुछ अधिकारियों, विधायकों और उनके करीबी लोगों की शिकायत करते हुए कहा की ये सब भी ठीक वैसे ही कर रहे हैं जैसे पहले की सरकारें करती रही हैं गोस्वामी ने मीडिया को बताया की – मैंने सिसोदिया जी से इतना ही कहा की सर आपकी पार्टी से पहले गलत लोग , घुसखोर , दबंग क्रिमिनल लोग डरते थे लेकिन आपके सरकार में आने के बाद अब आपकी पार्टी भी  वैसे काम नहीं कर रही जैसे आपने हमलोगों से बादा किया था क्योंकि आपके सरकार के अधिकारी ही अब गलत कर रहे हैं उससे पार्टी का साख निचे गया है और दिल्ली की लोगों का भरोसा भी आपकी पार्टी से उठ रहा है बस ये बोलना था की सिसोदिया जी भड़क गए और बोलने लगे की मैं तम्हे देख लूँगा, तुम बहुत बोल रहे हो, और कुछ अपशब्द भी बोले. यही से बबाल की शुरुआत हुई इसके बाद गाज़ीपुर मंडी के प्रधान सुरेंद्र गोस्वामी ने दिल्ली के सीएम को चिट्ठी लिखकर इस बाबत शिकायत दर्ज की है. जिसमें उन्होंने लिखा, ‘हमारी आपसे प्रार्थना है कि श्री मनीष सिसोदिया जो कि दिल्ली के डिप्टी सीएम पद पर हैं. वो हमारे साथ कोई भी गलत व्यवहार करवा सकते हैं. हमारे लिए ये चिंता का विषय है. हमारी चिंता को दूर करते हुए उनके खिलाफ कार्यवाही की जाये.

वहीँ एक तरफ आप पार्टी का कहना है कि पीएमओ के इशारे पर फर्जी मामलों में पुलिस द्वारा विधायकों को परेशान किया जा रहा है। केजरीवाल ने कल रत में ट्विट किया था की मोदी की पुलिस हमें गिरफ्तार करे उससे पहले हम खुद ही पीएमओ जाकर मोदी जी से कहेंगे हम सब को गिरफ्त्तर कर लो लेकिन दिल्ली में काम होने दो. आज सुबह 7 आरसीआर (PMO) जाने से पहले मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आम आदमी पार्टी के विधायकों को अपने घर बैठक के लिए बुलाया. बैठक में कपिल मिश्रा, गोपाल राय, सतेंद्र जैन सहित कई विधायक केजरीवाल के घर पहुंचे. मनीष सिसोदिया का कहना है कि वह गाजीपुर मंडी में सरप्राइज इंस्पेक्शन के लिए गए तो वहां उन्होंने अवैध कारोबार चला रहे लोगों को देखा.

अवैध कारोबार चला रहे कुछ लोगों ने उनके खिलाफ धमकी देने की शिकायत करा दी. उपमुख्यमंत्री ने ट्वीट करके कहा कि मुझे यकीन है कि मोदी जी कल मेरे खिलाफ रंगदारी, हिंसा, लड़की छेड़ने जैसे आरोपों में बदलवाकर मुझे भी गिरफ्तार करने का इंतजाम कर लेंगे.

हालाँकि दिल्ली पुलिस द्वारा गिरफ्तार किये गए सिसोदिया समेत सभी विधायकों को 3 घंटे बाद छोड़ दिया गया. आपकी जानकारी के लिए ये भी बता दूँ की फिलहाल सिसोदिया के खिलाफ कोई केस दर्ज नहीं हुआ है.