दिल्ली के ओखला क्षेत्र से आम आदमी पार्टी के विधायक  अमानतुल्ला खान के खिलाफ एक महिला ने धमकी देने के आरोप में मामला दर्ज करवाया है। आरोपों के चलते पुलिस ने अमानतुल्ला को अरेस्ट कर लिया है और जामिया नगर थाने में पूछताछ की जा रही है। महिला का आरोप है कि वह 10 जुलाई को दक्षिणी दिल्ली के बाटला हाउस स्थित विधायक के आवास पर अपने इलाके में खराब बिजली आपूर्ति की शिकायत करने गई थी, लेकिन वहां मौजूद विधायक ने उसके साथ में न सिर्फ गाली-गलौज की बल्कि गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी भी दी। 

New Delhi: Aam Aadmi Party (AAP) Member of Legislative Assembly (MLA) Amanatullah Khan, arrested after a woman alleged that he tried to mow her down after she visited his residence to raise the issue of power cuts, was on Sunday sent to one day's police custody by a court.गिरफ्तारी के बाद जामिया नगर थाने के बाहर आप पार्टी के कार्यकर्ता बड़ी संख्या में विधायक के समर्थन में पहुंच गए और उसके बाद कालिंदी कुंज मार्ग पर प्रदर्शन और नारेबाजी करने लगे जिससे नोएडा व फरीदाबाद को जोड़ने वाली सड़कें दोनों तरफ से जाम हो गई इसमें मरीज को हॉस्पिटल ले जा रहा एम्बुलेंस भी फस गया इससे निकलने के लिए एम्बुलेंस के ड्राईवर ने गाड़ी को बैक कर जब बाहर निकलने की कोशिस की तो आम आदमी के कार्यकर्ताओं ने उस एम्बुलेंस पर लाठी-डंडे बरसाने लगे और आगे जाने से रोक दिया जिससे घबराये परिजनों ने एम्बुलेंस से उतरकर  उनके आगे बहुत गिड़गिड़ाए लेकिन वो फिर भी नहीं माने और करीब 2 घंटे तक वही रोके रखा इसी जाम में कुछ लोग ऐसे भी जो प्राइवेट गाड़ियों से अपने परिजन को हॉस्पिटल ले जा रहे थे उसी में एक लड़की थी जो अपोलो अपने परिजन को देखने जा रही लड़की ने परेशान होकर अपनी गाडी को आगे बढ़ाने की कोशिश की तो वहाँ धरने पर बैठे लोगों ने उस लड़की के साथ बदसलूकी की और धक्का-मुक्की पर उतारू हो गए , इस दौरान लड़की चीख-चीख कर अपनी समस्या बताती रही और आगे जाने की अपील कर रही थी मगर किसी ने उसकी एक न सुनी आप के कार्यकर्त्ता बार-बार सिर्फ एक ही बात कर रहे थे जब तक पुलिस उनके विधायक को नहीं छोड़ेगी वो सड़क से नहीं हटेंगें। हर रोज ऐसे ही आम आदमी पार्टी के नेताओं या उनके कार्यकर्ताओं द्वारा ओछी हरकत दिल्ली में की जा रही है । इससे अब दिल्ली की जनता के मन में कई सबाल उठने लगें हैं जिसका केजरीवाल को जबाब देना चहिये अगर वो मानते हैं की दिल्ली की हरेक जनता के उत्तरदायी हैं-
1.) क्या आम आदमी पार्टी की अब यही पहचान रह गई है?

2.) क्या केजरीवाल जी अपनी और केंद्र सरकार की लड़ाईयों का बदला दिल्ली की जनता से वसूल करेंगे चाहे उसके लिए किसी लड़की से बदसलूकी करनी पड़े या किसी मरीज को सड़क पर रोककर उसके मरने का इन्तजार करना चाहिए?

3.) क्या केजरीवाल जी को अपने कार्यकर्ताओं द्वारा किये जा रहे गलत कामों को नहीं रोका जाना चाहिए?

4.) क्या दिल्ली की जनता के सारे परेशानियों का हल केंद्र सरकार के पास है? और अगर ऐसा है तो क्या दिल्ली के लोगों की खून-पसीने की कमाई से इतने विधायक और मंत्रियों को सैलरी देने की जरुरत है?

5.) क्या केजरीवाल जी को यह लगता है की दिल्ली में सरकार चलाने के लिए एक राज्यपाल ही बहुत है और दिल्ली से मुख्यमंत्री पद को समाप्त कर देनी चाहिए?

और अगर वो ये मानते हों की दिल्ली की कुछ सलेक्टिव जनता के लिए ही सिर्फ उत्तरदायी हैं तो उन्हें इस सबाल का उत्तर देने का जरूरत नहीं है।

इस घटना पर भी हर बार की तरह इस बार भी केजरीवाल ट्वीट कर यही राग अलापते नजर आये की मोदी ने मेरे एक और विधायक को गिरफ्तार करबा दिया।